सघन प्रशिक्षण कार्यक्रम

सघन प्रशिक्षण कार्यक्रमः

यह कार्यक्रम भारत सरकार द्वारा प्रायोजित है। कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य लोक-सेवा पहुंचाने में लगे चयनित विभागों के अधिकारी / कर्मचारियों को सघन रूप से प्रशिक्षण प्रदान करना है ताकि वे लोक-सेवा पहुंचाने का कार्य अधिक कुशलतापूर्वक कर सकें। इसके अंतर्गत ऐसे विभागों का चयन किया गया है जो गरीबों के लिए कल्याणकारी योजनाएं चला रहे हैं। कार्यक्रम के तहत चयनित विभाग हैं- कृषि, उद्यानिकी एवं प्रक्षेत्र वानिकी, मत्स्योद्योग, पशुधन विकास, वन एवं विद्युत वितरण कम्पनी मर्यादित। इस कार्यक्रम के क्रियान्वयन क्षेत्र अंतर्गत राज्य के चार जिले लिए गए हैं, यथा रायगढ़, राजनांदगांव, बस्तर (जगदलपुर) एवं कोरिया।

इसमें लगभग 3800 अधिकारी / कर्मचारियों को प्रशिक्षण प्रदान करने का लक्ष्य है। चयनित विभागों के अधिकारी/कर्मचारियों के प्रशिक्षण कार्यक्रमों का आयोजन जिला / खण्ड स्तर पर क्लस्टर बना कर किया जाना है। चारों जिलों में यह प्रशिक्षण माह जुलाई 2013 तक प्रारंभ हो जाएगा। जिलों में प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए अकादमी द्वारा चयनित जिलों में पदस्थ विभागों के अधिकारियों को मास्टर ट्रेनर्स के रूप में प्रशिक्षित किया जा चुका है। जिला स्तर पर सघन प्रशिक्षण कार्यक्रम की प्रगति का निरीक्षण करने के लिए जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में ‘‘जिला स्तरीय क्रियान्वयन समिति’’ गठित की गई है जिसके सदस्य संबंधित विभागों के जिला प्रमुख हैं।